मुंडन करवाकर लौट रहे 6 लोगों की दुर्घटना में मौत, मासूम  वेंटिलेटर पर
1 min read

मुंडन करवाकर लौट रहे 6 लोगों की दुर्घटना में मौत, मासूम वेंटिलेटर पर

भोपाल

देवी धाम सलकनपुर से 6 महीने के बच्चे का मुंडन और तुलादान कराकर लौट रहे भोपाल के परिवार की कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई। भैरव घाटी पर हुए हादसे में दादा-दादी समेत परिवार के 5 लोगों समेत ड्राइवर की मौत हो गई। पोते समेत 6 लोग घायल हैं। बच्चा वेंटिलेटर पर है। उसे रेनबो हॉस्पिटल, भोपाल में भर्ती कराया गया है।

बच्चे का मुंडन कराने के लिए अक्षय तृतीया पर देवीधाम सलकनपुर आए भोपाल के पांडे परिवार की खुशियां उस समय मातम में बदल गईं, जब लौटते समय उनकी कार भैरव घाटी के पास बाउंड्रीवाल से टकराकर पलट गई। इस हादसे में कार चालक सहित छह लोगों की मौत हुई है।

बताया जाता है कि भोपाल के चौकसे नगर डीआईजी बंगला निवासी मोहित पांडे अपने पांच माह के बच्चे का मुंडन कराने के लिए कार से स्वजन सहित शुक्रवार को सलकनपुर पहुंचे थे। बीजासन माता के मंदिर परिसर में मुंडन कार्यक्रम के बाद शाम छह बजे जब वे वापस भोपाल लौट रहे थे, तब भैरव घाटी के पास उनका वाहन असंतुलित होकर बाउंड्रीवाल से टकराकर पलट गया।

इस हादसे में उनके पिता राजेंद्र पांडे (75), चाचा शारदा प्रसाद पांडे (70) व चालक लक्ष्मीनारायण चौकसे की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि मां उषा पांडे (65), चाची अर्पणा पांडे व रिश्तेदार पुष्पलता अवस्थी (80) पति स्व. सुशीलचंद्र अवस्थी की अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई है।

हादसे में मोहित पांडे (35), शिखा तिवारी पत्नी मोहित पांडे (32), ओम पांडे (5 माह), मोनिका पांडे (33), ज्योति वाजपेयी (40) पत्नी भरत पांडे और गायत्री पांडे (45) पत्नी विशेष प्रसाद पांडेय घायल हुए हैं। बुदनी एसडीओपी शशांक गुर्जर ने बताया कि हादसे की सूचना मिलने पर पुलिस ने एंबुलेंस बुलाकर घायलों को नजदीकी अस्पताल में उपचार कराने के लिए पहुंचा दिया था।
छह लोगों की मौत से चौकसे नगर में पसरा मातम

संयुक्त रूप से रह रहे पांडे परिवार के पांच लोगों की देवी धाम सलकनपुर में सड़क हादसे में मौत की सूचना से चौकसे नगर में शुक्रवार शाम से ही मातम पसर गया। जिस टैक्सी कार से दुर्घटना हुई वह भी इसी कालोनी की था। हादसे में चालक की भी मृत्यु हो गई है। चौकसे नगर निवासी राजेश सेठ ने बताया कि परिवार के मुखिया शारदा प्रसाद पांडेय सेल टैक्स, इनकम टैक्स के सलाहकार थे।

उनके छोटे भाई राजेद्र प्रसाद पांडे सेवानिवृत्त शिक्षक थे। पड़ोसी सचिन नीखरा ने बताया कि अक्षय तृतीया के अवसर पर परिवार के पांच माह के नन्हे पोते का मुंडन करवाने के लिए परिवार सुबह कॉलोनी के किराना व्यापारी की टैक्सी से हंसी खुशी सलकनपुर रवाना हुआ था।

शाम के समय भीषण दुर्घटना में पांडे परिवार के पांच लोगों की मौत की सूचना मिलते ही कालोनी में मातम पसर गया। विश्व हिंदू परिषद के पूर्व जिला अध्यक्ष दिलीप खंडेलवाल ने बताया कि परिवार में छोटे स्तर पर आइसक्रीम बनाने का काम भी होता था। त्योहार के अवसर पर हुई दर्दनाक घटना से सभी लोग स्तब्ध हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *